आधुनिक राइफल शूटिंग रेंज में प्रशिक्षण प्राप्त कर गोंदिया जिले के खिलाड़ी राष्ट्रीय अंतरराष्ट्रीय स्तर पर बनाएंगे अपनी पहचान

बुलंद गोंदिया। गोंदिया के जिला क्रीड़ा संकुल में आधुनिक राइफल शूटिंग रेंज के शुभारंभ होने से गोंदिया जिले के शूटिंग खिलाड़ी अब जिला स्तर पर ही प्रशिक्षण प्राप्त कर राष्ट्रीय अंतरराष्ट्रीय स्तर पर अपनी पहचान बनाएंगे इस प्रकार की जानकारी क्रीड़ा संकुल के राइफल शूटिंग रेंज में आयोजित पत्र परिषद में गोंदिया डिस्टिक राइफल एसोसिएशन के सचिव अविनाश बाजाज द्वारा दी गई।
गौरतलब है कि विभिन्न खेलो को शासन द्वारा बढ़ावा देकर खिलाड़ियों की प्रतिभाओं को निखारने के लिए आधुनिक संसाधन उपलब्ध करवा रही है।
इसी के तहत गोंदिया जिले के जिला क्रीड़ा संकुल में आधुनिक राइफल शूटिंग रेंज का शुभारंभ दिसंबर माह में पालक मंत्री सुधीर मुनगंटीवार के हस्ते किया गया था, किंतु रेंज के शुरू होने के बावजूद प्रशिक्षक व आधुनिक राइफल शूटिंग रेंज के मेंटेनेंस की व्यवस्था समुचित ना होने के चलते फायरिंग रेंज में प्रशिक्षण शुरू नहीं हो पाया था।
लेकिन अब गोंदिया जिला डिस्ट्रिक्ट राइफल एसोसिएशन द्वारा इस आधुनिक शूटिंग रेंज में जिले के खिलाड़ियों को प्रशिक्षण देने की महत्वपूर्ण जिम्मेदारी ली है। जिसके चलते अब जिले में शूटिंग में अपनी प्रतिभा दिखाने का अवसर जिले के उदयीमान खिलाड़ियों को प्राप्त होगा।
यह आधुनिक शूटिंग रेंज मैं विभिन्न राइफल वह पिस्टल उपलब्ध करवाई गई है जिसमें 10 मीटर का शूटिंग रेंज निर्माण किया गया है।
जिसके लिए शासन द्वारा 51 लाख की निधि मंजूर की गई थी।
इस आधुनिक शूटिंग रेंज में गोंदिया जिला डिस्ट्रिक्ट राइफल एसोसिएशन के सदस्य द्वारा कोच के रूप में अपनी सेवा देंगे इसके साथ ही गोंदिया जिला पुलिस विभाग में कार्यरत अंतरराष्ट्रीय स्तर तक निशानेबाजी स्पर्धा में जिले का नाम रोशन करने वाले पुलिसकर्मी नेलेश सेंडे प्रमुख कोच के रूप में अपनी सेवा प्रदान करेंगे।
प्रशिक्षण प्रतिदिन दो शिफ्ट में दिया जाएगा जिसमें सुबह 7:00 से 11:00 वह शाम को 4:00 से 8:00 तक का समय निर्धारित किया गया है।


प्रशिक्षण प्राप्त करने वाले खिलाड़ी को 2500 प्रति माह का शुल्क का भुगतान मेंटेनेंस के लिए करना होगा।
आयोजित पत्र परिषद के अवसर पर उपस्थित नेलेश सेंडे ने जानकारी देते हुए बताया कि शूटिंग एक ऐसा खेल है जिसमें खिलाड़ी का व्यक्तिगत खेल ही प्रमुख होता है तथा वर्तमान में राष्ट्रीय अंतरराष्ट्रीय स्तर तक स्तर में देश के निशानेबाज अपनी प्रतिभा का उत्कृष्ट प्रदर्शन करने के साथ ही ओलंपिक जैसी प्रतियोगिता में भी शामिल होकर पदक प्राप्त कर रहे हैं। प्रतियोगिता में खिलाड़ी का व्यक्तिगत स्कोर ही महत्वपूर्ण होता है तथा खिलाड़ी जब अपने उत्कृष्ट प्रदर्शन पर पहुंच जाता है तो उसे इंटरनेशनल शूटिंग एसोसिएशन वह महाराष्ट्र शूटिंग एसोसिएशन में अपना पंजीयन करवाना जरूरी होता है जिससे उसे भविष्य में विभिन्न शासकीय योजना व शासकीय नौकरी का लाभ प्राप्त होता है।
आयोजित पत्र परिषद में जिला क्रीड़ा अधिकारी घनश्याम राठौड़, गोंदिया डिस्ट्रिक्ट राइफल एसोसिएशन के सचिव अविनाश बजाज, सह सचिव अमर गांधी, उपाध्यक्ष राजेश गोयंका उपस्थित थे।

Share Post: