सार्वजनिक स्थान पर हंगामा मचाने के आरोप में अर्जुन नागपुरे व साथी को 6 माह का कारावास 45 हजार का जुर्माना

बुलंद गोंदिया। प्रथम श्रेणी न्यायिक दंडाधिकारी वी.आर आसुदानी द्वारा 18 नवंबर को सुनाए गए अपने फैसले में अर्जुन नागपुरे व उसके एक साथी विकी राधेलाल बघेल को सार्वजनिक स्थान पर हंगामा मचा कर संपत्ति को नुकसान पहुंचाने के आरोप में दोषी करार देते हुए छह -छह माह का कारावास व 45 -45 हजार रुपये जुर्माने की सजा सुनाई।
गौरतलब है कि रामनगर पुलिस थाना अंतर्गत आने वाले क्षेत्र में आरोपियों द्वारा 10 अप्रैल 2016 को सार्वजनिक स्थान पर शांति व कानून व्यवस्था को भंग करते हुए हंगामा मचाते हुए शासकीय व निजी संपत्तियों को नुकसान पहुंचाया था। इस मामले में रामनगर पुलिस थाने में आरोपियों के खिलाफ विभिन्न धाराओं के तहत मामला दर्ज कर न्यायालय में पेश किया गया। उपरोक्त प्रकरण में 18 जनवरी को नवंबर को प्रथम श्रेणी न्यायिक दंडाधिकारी वीआर आसुदानी द्वारा आरोपी अर्जुन छत्रपति नागपुरे विकी राधेलाल बघेले को धारा 143, 149, 427 के तहत दोषी करार देते हुए 6 माह, 6 माह के कारावास की सजा वह प्रत्येक धाराओं में पंद्रह हजार जुर्माना इस प्रकार कुल दोनों आरोपियों को 45 -.45हजार रुपए के जुर्माने की सजा सुनाई सजा सुनाए जाने के पश्चात आरोपियों द्वारा जुर्माने की राशि जमा करने के पश्चात जमानत के लिए आवेदन किया जाने वाले द्वारा दोनों आरोपियों की जमानत मंजूर की गई। उपरोक्त प्रकरण में सरकार की ओर से सहायक सरकारी वकील प्रणिता कुलकर्णी ने पक्ष रखा।

Share Post: