धान के बोनस की प्रतीक्षा समाप्त पहले चरण में मिले 470 करोड़, सांसद प्रफुल्ल पटेल ने किया वादा पूरा, किसानों को मिली राहत

बुलंद गोंदिया। गोंदिया- भंडारा जिले में खरीफ मौसम 2020-21 के दौरान जिला मार्केटिंग फेडरेशन वआदिवासी विकास महामंडल द्वारा खरीदे गए किसानों के धान पर प्रति कुंटल 700 रुपये का बोनस देने की घोषणा महाविकास आघाडी सरकार ने की थी। किंतु कोरोना संक्रमण के चलते बोनस में विलंब हो रहा था इस संदर्भ में सांसद प्रफुल्ल पटेल द्वारा किसानों से वादा किया था कि उन्हें जल्द से जल्द बोनस मिलेगा अपने वादे को पूरा कर बोनस की पहली किस्त के रूप में 470 करोड रुपए की निधि 30 जून बुधवार को जारी की गई।
गौरतलब है कि किसानों को समर्थन मूल्य से धान का भाव कम ना मिले इसके लिए जिला मार्केटिंग फेडरेशन व आदिवासी विकास महामंडल के माध्यम से धान की खरीदी की जाती है खरीफ मौसम 2020-21 के दौरान शासकीय आधारभूत खरीदी केंद्रों में धान बिक्री करने वाले किसानों को प्रति क्विंटल 700 रुपये बोनस 50 कुंटल की मर्यादा तक देने का निर्णय राज्य की महाविकास आघाडी सरकार द्वारा किया गया था तथा सांसद प्रफुल्ल पटेल द्वारा किसानों को जल्द से जल्द बोनस मिले इसके लिए शुरुआत से ही प्रयास कर रहे थे तथा गोंदिया भंडारा जिले के किसानों को तथा सभी धान उत्पादक किसानों को बोनस मिलेगा इसका वादा भी किया था इस संदर्भ में 8 दिनों पूर्व राज्य के उपमुख्यमंत्री अजीत पवार से मिलकर बोनस की रकम जल्द से जल्द उपलब्ध कराने की मांग की थी जिस पर उप मुख्यमंत्री द्वारा 8 दिनों में बोनस की राशि उपलब्ध करवाने का वादा किया था । सांसद प्रफुल पटेल से हुई चर्चा के पश्चात बुधवार 30 जून को पहली किस्त के रूप में 470 करोड रुपए की बोनस की राशि उपलब्ध करवाई गई है तथा शेष बकाया राशि आगामी 15 दिनों में उपलब्ध हो जाएंगी ।
किसानों को बोनस की राशि प्राप्त हो इसके लिए पूर्व विधायक राजेंद्र जैन ,विधायक मनोहर चंद्रिकापुरे ,विधायक राजू कारेमोरे यह सांसद प्रफुल्ल पटेल के माध्यम से निरंतर शासन से मांग कर रहे तथा खरीद मौसम में किसानों को बोनस की रकम मिलने पर दोनों जिलों के किसानों ने सांसद प्रफुल्ल पटेल का आभार व्यक्त किया।
पूर्व विदर्भ के 5 लाख किसानों को लाभ
पूर्व विदर्भ के गोंदिया, भंडारा, गडचिरोली ,नागपुर, चंद्रपुर जिलों में सर्वाधिक धान की फसल लगाई जाती है जिसमें करीब 5 लाख किसानों द्वारा शासकीय आधारभूत धान खरीदी केंद्रों पर बिक्री की थी इन सभी किसानों को बोनस की रकम मिलने पर खरीफ मौसम की फसल के लिए काफी सहायता होंगी तथा उपरोक्त राशि आगामी एक-दो दिन में किसानों के खातों में जमा होना शुरू हो जाएंगी ।

Share Post: